आप नहि मानोगे पर ये आपके साथ भी होता है, बल्कि मैं तो कहूँगा सबके साथ ही होता है

आप नहि मानोगे पर ये आपके साथ भी होता है, बल्कि मैं तो कहूँगा सबके साथ  ही होता है

आप नहि मानोगे पर ये आपके साथ भी होता है, बल्कि मैं तो कहूँगा सबके साथ ही होता है

क्यूँकि माँ ही ममता की प्रतिमूर्ति होती है और उसे हर एक काम की सही ग़लत की फ़िक्र रहती है अपने परिवार में

Leave a Reply