दायित्व निभाते हुए और हर कार्यकर्ता के साथ तालमेल रखते हुए सभी चुनौतियों को पार पाएंगे: धनखड़

दायित्व निभाते हुए और हर कार्यकर्ता के साथ तालमेल रखते हुए सभी चुनौतियों को पार पाएंगे: धनखड़

[ad_1]

ओपी धनखड़ का स्वागत करते कार्यकर्ता

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह व भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने प्रदेश अध्यक्ष के रूप में एक बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है। हम कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर अग्रिम श्रेणी में उनका दायित्व निभाते हुए और हर कार्यकर्ता के साथ तालमेल रखते हुए इस चुनौती को पार पाएंगे। यह बातें भाजपा नवनियुक्त प्रदेशाध्यक्ष पूर्व मंत्री ओपी धनखड़ ने अपने झज्जर स्थित निवास पर पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहीं।

उन्होंने बताया कि रविवार को जब वह दोपहर में सो रहे थे तो भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की 8 बार कॉल आई थी। जब उन्होंने फोन उठाया और उनसे बात की तो नड्डा बोले सोए नहीं, अब खड़े हो जाओ आपको नया दायित्व सौंपा गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष व प्रभारी की अलग-अलग जिम्मेदारी होती है। प्रदेश प्रभारी का कार्य होता है कि सबको लाइन से चलाएं, लेकिन प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी ऐसी होती है जैसे धुंध में गाड़ी चलाने वाले चालक पर सबका दायित्व होता है।

इसी प्रकार अध्यक्ष का दायित्व यह होता है कि वह अपनी टीम का नेतृत्व करते हुए पूरे अपने कर्तव्य का पालन करें और सबसे आगे खड़ा मिले। वह सभी पक्षों को साथ लेकर चलेंगे और अपने कार्यकर्ताओं के बल पर अपने दायित्व की पूरी जिम्मेदारी निभाएंगे। धनखड़ ने कहा कि झज्जर क्षेत्र विकास के मामले में सत्ता में हिस्सेदारी का अभाव महसूस कर रहा था। लेकिन क्षेत्र के लोगों का विकास होगा। उन्हें अपनी बात रखने का अवसर मिल गया है। विकास के क्षेत्र में झज्जर जिले को और भी आगे लेकर जाएंगे।
धनखड़ ने कहा कि उन्होंने अपना राजनीतिक जीवन भाजपा में 1978 में आरएसएस ज्वाइन करते हुए शुरू किया था। वहां से उन्होंने वॉल पेंटिंग व पोस्टर लगाते हुए अपने जीवन का राजनीतिक सफर शुरू किया था। भाजपा साधारण को असाधारण बनाने वाली पार्टी है। जिसने साधारण व्यक्ति को लोकसभा और विधानसभा का चुनाव लड़वाया, साथ-साथ विधायक बनाया, मंत्री बनाया भाजपा का किसान मोर्चा का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया।

अब उन्हें हरियाणा के प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सरदार वल्लभभाई पटेल की यूनिटी ऑफ स्टैचू की जिम्मेदारी भी उन्हें सौंपी थी। उन्होंने कहा उन्हें चुनौतियों के सामने खड़ा होना सीखा है। हमारा कर्तव्य है हर कार्यकर्ता के बल पर आगे बढ़ेंगे और हर कार्य बेस्ट करेंगे।

भाजपा जीतेगी बरोदा चुनाव
उन्होंने बरोदा चुनाव के बारे में कहा कि वह एक दिन का दौरा बरोदा हलके का कर चुके हैं। कई स्थानों पर उन्होंने चाय के कार्यक्रम किए थे। इस दौरान लोगों ने उन्हें विश्वास दिया था कि पिछले कई वर्षों से बरोदा हलका विकास के क्षेत्र में पिछड़ा हुआ है, क्योंकि वहां से विपक्ष का विधायक रहा है। अब वे विकास में हिस्सेदारी करना चाहते हैं और भाजपा को जिताने के लिए वहां के लोगों में काफी उत्साह है। उनका कहना है कि बरोदा हलके से भाजपा को जिताएंगे।

ये रहे मौजूद
इस अवसर पर उनके साथ पूर्व विधायक नरेश शर्मा बहादुरगढ़, पूर्व मंत्री मनीष ग्रोवर, जिला अध्यक्ष बिजेंद्र दलाल, महिला एवं बाल विकास निगम के चेयरपर्सन सुनीता चौहान, प्रदीप अहलावत व आनंद सागर आदि मौजूद रहे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह व भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने प्रदेश अध्यक्ष के रूप में एक बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है। हम कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर अग्रिम श्रेणी में उनका दायित्व निभाते हुए और हर कार्यकर्ता के साथ तालमेल रखते हुए इस चुनौती को पार पाएंगे। यह बातें भाजपा नवनियुक्त प्रदेशाध्यक्ष पूर्व मंत्री ओपी धनखड़ ने अपने झज्जर स्थित निवास पर पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहीं।

उन्होंने बताया कि रविवार को जब वह दोपहर में सो रहे थे तो भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की 8 बार कॉल आई थी। जब उन्होंने फोन उठाया और उनसे बात की तो नड्डा बोले सोए नहीं, अब खड़े हो जाओ आपको नया दायित्व सौंपा गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष व प्रभारी की अलग-अलग जिम्मेदारी होती है। प्रदेश प्रभारी का कार्य होता है कि सबको लाइन से चलाएं, लेकिन प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी ऐसी होती है जैसे धुंध में गाड़ी चलाने वाले चालक पर सबका दायित्व होता है।

इसी प्रकार अध्यक्ष का दायित्व यह होता है कि वह अपनी टीम का नेतृत्व करते हुए पूरे अपने कर्तव्य का पालन करें और सबसे आगे खड़ा मिले। वह सभी पक्षों को साथ लेकर चलेंगे और अपने कार्यकर्ताओं के बल पर अपने दायित्व की पूरी जिम्मेदारी निभाएंगे। धनखड़ ने कहा कि झज्जर क्षेत्र विकास के मामले में सत्ता में हिस्सेदारी का अभाव महसूस कर रहा था। लेकिन क्षेत्र के लोगों का विकास होगा। उन्हें अपनी बात रखने का अवसर मिल गया है। विकास के क्षेत्र में झज्जर जिले को और भी आगे लेकर जाएंगे।


आगे पढ़ें

पोस्टर लगाने और वॉल पेंटिंग करवाते हुए शुरू की थी राजनीति

[ad_2]

Source link

Related articles

Leave a Reply