मुजफ्फरनगर मैडिकल कॉलेज की बदहाली की वीडियो फिर हुई जारी, सीएमओ बोले-इस संकट में जो कर पा रहे, वही कर रहे है : News & Features Network

मुजफ्फरनगर मैडिकल कॉलेज की बदहाली की वीडियो फिर हुई जारी, सीएमओ बोले-इस संकट में जो कर पा रहे, वही कर रहे है : News & Features Network

मुजफ्फरनगर। कोरोना मरीजों के उपचार के लिए कोविड अस्पताल के रूप में अधिकृत किये गये मुजफ्फरनगर मैडिकल कॉलेज में भर्ती मरीजों ने एक बार फिर व्यवस्था पर सवालियां निशान खड़े कर दिये हैं

और वीडियो वायरल कर जिला प्रशासन से इस ओर ध्यान देने की मांग की गई है। इस वीडियो में एक मरीज द्वारा बताया गया है कि अस्पताल की पांचवीं मंजिल पर भर्ती 21 मरीजों पर एक ही शौचालय है और खाना भी ठण्डा मिलता है।

ना सफाई कर्मचारी आता है और ना ही डॉक्टर के दर्शन वहां पर होते हैं। वॉर्ड को सेनिटाइज कराने में भी कोई रूचि नहीं ली जा रही है। बदहाल व्यवस्था में मरीज अपना उपचार कराने को विवश है।

जिला प्रशासन द्वारा कोरोना संक्रमण से पीड़ित मरीजों के उपचार के लिए बेगराजपुर स्थित मुजफ्फरनगर मेडिकल कॉलेज में कोविड-19 एल-1 अस्पताल बनाया गया है

इसमें ही जनपद में सामने आ रहे कोरोना मरीजों को उपचार के लिए भर्ती किया जा रहा है। यहां पर स्वास्थ्य विभाग के अधीन सारी व्यवस्था की जा रही है।

आज सोशल मीडिया पर एक वीडियो इसी हॉस्पिटल के कोरोना वॉर्ड में भर्ती मरीजों की ओर से जारी किया गया है। वीडियो बना रहे व्यक्ति ने पूरे वॉर्ड और वहां हो रही बदहाल व्यवस्था के साथ ही भर्ती मरीजों से हुई बातचीत को उजागर किया है।

यह कोरोना मरीज हॉस्पिटल की पांचवीं मंजिल पर कमरा नम्बर 906 में भर्ती है। यहां पर बिस्तर पर ही कूड़ा और गन्दगी का आलम है।

 

 

वीडियो में बताया गया है कि इस कमरे में 21 कोरोना मरीज भर्ती हैं। इनमें से एक मरीज चार दिनों से वहां पर भर्ती है। उसने बताया कि वहां पर 21 मरीजों को एक ही शौचालय का प्रयोग करना पड़ रहा है। इसके साथ ही 6 दिनों से वहां पर भर्ती एक मरीज ने बताया कि उनको सवेरे चाय नाश्ते से लेकर भोजन तक सभी कुछ ठण्डा मिल रहा है

ना गर्म पानी मिलता है और ना ही अन्य सुविधाएं यहां पर नजर आती हैं। वॉर्ड को सैनिटाइज भी नहीं किया जाता है। एक अन्य मरीज ने बताया कि यहां पर डाक्टर के दर्शन ही नहीं होते हैं

जो लोग यहां पर आते हैं, उनमें पता ही नहीं चलता कि वह सफाई कर्मचारी हैं या डाक्टर। इस वीडियो के सहारे कोविड एल-1 हॉस्पिटल की बदहाल तस्वीर पेश करने की कोशिश की गयी है।

इन मरीजों में से कुछ लोगों ने कहा कि उनको लगता है कि बीमार करने के लिए ही उनको यहां पर लाया गया है। एक ही शौचालय प्रयोग करने के कारण संक्रमण फैल सकता है।

इस वीडियो के वायरल होने पर सीएमओ ने बताया कि कोविड हॉस्पिटल में व्यवस्थाओं को लेकर पूरा ध्यान दिया जा रहा है, जिस वॉर्ड की बात की जा रही है,

उसमें 21 मरीज भर्ती हैं और वहां पर दो शौचालय, एक इंग्लिश सीट और एक इंडियन सीट के हैं। उन्होंने कहा कि हम ऐसे संकट में सभी व्यवस्था नहीं कर पा रहे हैं।

कोविड हॉस्पिटल के लिए बेगराजपुर में जैसी व्यवस्था है, वह सही है। उन्होंने कहा कि खाने की गुणवत्ता से कोई भी समझौता नहीं किया जा रहा है। वह पैकेट में मरीजों को उपलब्ध कराया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि पहले भी इस तरह के वीडियो वायरल हो चुके हैं।

For Full News ClickShamli news

Related articles

Leave a Reply