केंद्र की विशेष टीम का बिहार दौरा आज, कोरोना के बढ़ते मामलों का लेगी जायजा

केंद्र की विशेष टीम का बिहार दौरा आज, कोरोना के बढ़ते मामलों का लेगी जायजा

[ad_1]

न्यूज़ डेस्क, अमर उजाला, पटना
Updated Sun, 19 Jul 2020 09:47 AM IST

कोरोना वायरस (प्रतीकात्मक तस्वीर)
– फोटो : PTI

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

बिहार में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बाद राज्य में हड़कंप की स्थिति है। पिछले एक हफ्ते से प्रतिदिन एक हजार से ज्यादा कोरोना वायरस मरीजों का आंकड़ा आने के बाद अब केंद्र की विशेष टीम बिहार का दौरा करेगी। ये विशेष टीम कोरोना के बढ़ते मामलों का जायजा लेने के लिए रविवार को बिहार आएगी और शाम तक दिल्ली वापस लौट जाएगी। 

वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे ने कहा कि केंद्र सरकार की ओर से बिहार राज्य को पर्याप्त मदद दी जा रही है और राज्य में कोरोना की स्थिति को काबू में लाने के लिए हर संभव कदम उठाए जाएंगे। बिहार में कोरोना वायरस के मामले 25,000 के करीब पहुंच गए हैं।

बता दें कि इस टीम में तीन लोग होंगे जिसमें नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल के निदेशक डॉ. एसके सिंह और अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के मेडिसिन विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. नीरज निश्छल भी शामिल है। ये टीम बिहार में कंटेन्मेंट जोन का दौरा भी करेगी और राज्य की ओर से उठाए जा रहे कदमों की जांच करेगी।

बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि केंद्र की ओर से बिहार में कोरोना वायरस की स्थिति पर लगातार नजर बनाई हुई है। सरकार ने कोरोना की जांच के लिए पिछले हफ्ते 50,000 रैपिड एंटीजन किट मंगवाए थे, जिसके जरिए केवल एक ही घंटे में कोरोना वायरस की जांच का परिणाम सामने आ जाता है। 
 

बिहार में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बाद राज्य में हड़कंप की स्थिति है। पिछले एक हफ्ते से प्रतिदिन एक हजार से ज्यादा कोरोना वायरस मरीजों का आंकड़ा आने के बाद अब केंद्र की विशेष टीम बिहार का दौरा करेगी। ये विशेष टीम कोरोना के बढ़ते मामलों का जायजा लेने के लिए रविवार को बिहार आएगी और शाम तक दिल्ली वापस लौट जाएगी। 

वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे ने कहा कि केंद्र सरकार की ओर से बिहार राज्य को पर्याप्त मदद दी जा रही है और राज्य में कोरोना की स्थिति को काबू में लाने के लिए हर संभव कदम उठाए जाएंगे। बिहार में कोरोना वायरस के मामले 25,000 के करीब पहुंच गए हैं।

बता दें कि इस टीम में तीन लोग होंगे जिसमें नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल के निदेशक डॉ. एसके सिंह और अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के मेडिसिन विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. नीरज निश्छल भी शामिल है। ये टीम बिहार में कंटेन्मेंट जोन का दौरा भी करेगी और राज्य की ओर से उठाए जा रहे कदमों की जांच करेगी।

बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि केंद्र की ओर से बिहार में कोरोना वायरस की स्थिति पर लगातार नजर बनाई हुई है। सरकार ने कोरोना की जांच के लिए पिछले हफ्ते 50,000 रैपिड एंटीजन किट मंगवाए थे, जिसके जरिए केवल एक ही घंटे में कोरोना वायरस की जांच का परिणाम सामने आ जाता है। 
 

[ad_2]

Source link

Related articles

Leave a Reply