know six top most haunted places of rajasthan bhangarh fort kuldhara village | राजस्थान की इन 6 जगहों पर दिन में ही रख सकते कदम, रात में भूत लगा देते ‘नो एंट्री’

संध्या यादव, जयपुर: राजस्थान, एक ऐसा राजस्थान, जिसका नाम सुनते ही हमारे मन में तमाम तरह की सांस्कृतिक और ऐतिहासिक छवियां बनने लगती हैं. कहते हैं कि राजस्थान की कला और संस्कृति जितनी खूबसूरत है, उतना ही ज्यादा यहां की स्थापत्य कला मशहूर है.

राजस्थान राजा-महाराजाओं की शानो-शौकत वाला राज्य माना जाता है. यहां के रण के धोरों की वीरता किताबों में बखूबी पढ़ी जा सकती है. खाने से लेकर यहां की हवेलियां और किले लोगों को काफी आकर्षित करती हैं पर यहां की डरावनी जगहों के बारे में सुनकर लोगों के पसीने भी छूट जाते हैं.

जी हां, किलों, स्थापत्य कला और हवेलियों की खूबसूरती समेटे यह राज्य कई भूतिया जगहों का भी राज्य है. इन जगहों के बारे में सुनकर यहां जाने से लोग कतराते हैं. इतना ही नहीं, इन भयानक जगहों पर लोगों ने तो कई बार अजीबों-गरीब आवाजें सुनने से लेकर परछाइयां देखने तक का दावा किया है.

तो आज हम आपको राजस्थान की ऐसी 6 डरावनी जगहों के बारे में बताने जा रहे हैं, जहां के बारे में जानकर आप उत्सुक तो होंगे पर वहां घूमने की इच्छा खत्म हो सकती है. इन जगहों के बारे में कहा जाता है कि ये इतनी डरावनी हैं कि कई बार इंसान की मौत तक हो जाती है.

bhangarh fort
भानगढ़ का किला

1- अलवर का भानगढ़ का किला: राजधानी जयपुर से 85 किमी दूर अलवर जिले में स्थित भानगढ़ का किला न केवल भारत का बल्कि एशिया के सबसे ज्यादा डरावने स्थानों में से एक है. नकारात्मक शक्तियों से भरे इस किले में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण संस्थान ने सूर्योदय के पहले और सूर्यास्त के बाद जाने पर रोक लगा रखी है. आत्माओं और भूत-प्रेतों से जुड़े शोधकर्ताओं की मानें तो यहां पर नाकारात्मक शक्तियां रहती हैं. यहां जाने वाले लोगों ने रात में रोने-चिल्लाने की आवाजें और चूड़ियों के खनकने की आवाजें भी सुनी हैं.

jaisalmer kuldhara village
जैसलमेर का कुलधरा गांव

2- जैसलमेर का कुलधरा गांव: वैसे तो जैसलमेर में घूमने वाली कई जगहें हैं, पर यहां का कुलधरा गांव लगभग 170 सालों से वीरान पड़ा है. इस गांव में आज भी कोई अकेले जाने की हिम्मत नहीं जुटा पाता है. कहते हैं कि यहां पर एक दीवान आए दिन महिलाओं पर गंदी नजर डालता था. विरोध करने पर परिजनों और महिलाओं को मार देता था. उसी पापी और अत्याचारी दीवान से अपनी बहू-बेटियों को बचाने के लिए पूरे गांव को एक साथ खाली कर दिया था और जाते-जाते इसे श्राप दिया था. तब से लेकर इस गांव में कोई ठहरा नहीं. बताया जाता है कि दिल्ली की एक पैरानॉर्मल एजेंसी ने डिटेक्टर के जरिये मरे लोगों की आवाज भी रिकॉर्ड की थी. दिन में भी यहां घूमने आने वालों को चूड़ियों की आवाजें सुनाई देती हैं.

nahargarh fort of jaipur
जयपुर का नाहरगढ़ किला

3- जयपुर का नाहरगढ़ किला: नाहरगढ़ किले का निर्माण राजधानी जयपुर के महाराजा सवाई मानसिंह ने करवाया था. यह किला अरावली की पहाड़ियों पर स्थित है. गुलाबी नगरी में पीले रंग का किला दूर से जितना ही आकर्षक दिखाई देता है, अंदर जाने के बाद उतना ही डरावना लगता है. कहते हैं कि नाहरगढ़ में पुनर्स्थापना संगठन के मालिक को अपने ही घर में रहस्यमयी तरीके से मृक पाया गया था. उसके बाद से इस किले को भूतिया घोषित कर दिया गया.

rana kumbha mahal of chittorgarh
चित्तौड़गढ़ का राणा कुम्भा महल

4- चित्तौड़गढ़ का राणा कुम्भा महल: राजस्थान के चित्तौड़गढ़ में यह ऐतिहासिक किला 15वीं शताब्दी में राजा महाराणा कुम्भा द्वारा बनवाया गया था. उनका शाही जीवन इसी महल में बीता था. भूतिया जगहों में शामिल किए जाने के पीछे बताया जाता है कि यहां घूमने आने वालों को कई बार यहां किसी अनजान शक्ति के होने का एहसास होता है. बता दें कि जब दिल्ली के सुल्तान अलाउद्दीन खिलजी ने कुम्भा महल पर हमला किया तो यहां की महारानी पद्मिनी (पद्मावती) ने 700 महिला अनुयायियों के साथ जौहर (आत्मदाह) कर लिया था.

kota brijraj bhawan
कोटा का बृजराज भवन

5- कोटा का बृजराज भवन: एजुकेशन सिटी के नाम से पहचाने जाने वाले कोटा में स्थित बृजराज भवन 178 साल पुराना है. कहते हैं कि यहां एक अंग्रेज अफसर की आत्मा भटकती रहती है. इतिहास की मानें तो सन 1857 के स्वतंत्रता संग्राम के दौरान भारतीयों ने ईस्ट इंडिया कंपनी के मैनेजर मेजर बर्टन को मौत के घाट उतार दिया था. 1980 में इसे धरोहर में बदल दिया गया. मैनेजर मेजर बर्टन काफी अनुशासित इंसान थे. कहते हैं कि आज भी अगर कोई गार्ड ड्यूटी के समय यहां सो जाता है तो मैनेजर मेजर बर्टन का भूत उसे थप्पड़ मारकर जगा देता है.

abhaneri
बांदीकुई दौसा की चांद बावड़ी

6- बांदीकुई दौसा की चांद बावड़ी: राजधानी जयपुर के पास दौसा में आभानेरी गांव चांद बावड़ी नाम की एक भूतिया जगह है. हैरान कर देने वाली बात तो यह है कि लोगों की मानें तो इसे भूतों ने बनवाया था. इस बावड़ी में 3500 से अधिक सीढ़ियां हैं. नीचे की ओर जाने पर इंसान की डर से हवा निकल जाती है. वहीं नीचे से ऊपर या ऊपर से नीचे आने-जाने वाले को अक अदृश्य भूत नहीं चलने देता है.



[

Source link

Related articles

Leave a Reply