राफेल के आने से चीन, पाकिस्तान और सुबह ट्वीट करने वालों के यहां मातम: नरोत्तम मिश्रा

राफेल के आने से चीन, पाकिस्तान और सुबह ट्वीट करने वालों के यहां मातम: नरोत्तम मिश्रा

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, भोपाल
Updated Wed, 29 Jul 2020 12:54 PM IST

मध्यप्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा
– फोटो : ANI

फ्रांस से उड़ान भरते हुए पांच राफेल विमान आज भारत पहुंच रहे हैं। ये विमान अंबाला एयरफोर्स पर लैंड करेंगे और इनकी तैनाती यहीं की जाएगी। इसके चलते अंबाला और इससे लगते चार गांवों में धारा 144 लगाई गई है। वहीं, मध्यप्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने राफेल को लेकर बिना नाम लिए कांग्रेस पर हमला बोला है।
सूबे के गृह मंत्री ने कहा, ‘हिंदुस्तान का आसमान आज राफेल की गर्जना से और देश का माथा आज गौरव से गौरवान्वित होगा। अगर मातम होगा तो केवल तीन जगह होगा, चीन, पाकिस्तान और उनके यहां जो सुबह से ट्वीट कर रहे हैं।’

उन्होंने कहा, ‘जो लोग रोज सुबह उठकर कभी सेना का मनोबल गिराते हैं, कभी देश के सम्मान और स्वाभिमान को आहत करते हैं, अच्छा होगा अगर ऐसे लोग किसी दूसरे देश की नागरिकता ले लें।’

यह भी पढ़ें: दुश्मनों का ‘काल’ राफेल के वायुसेना में शामिल होने से कैसी बढ़ेगी इसकी ताकत, यहां पढ़ें

गौरतलब है कि भारत ने वायुसेना की ताकत को बढ़ाने के लिए फ्रांस के साथ सितंबर 2016 में करीब 60 करोड़ रुपये का राफेल सौदा किया गया था। इसके तहत, भारत को 36 राफेल लड़ाकू विमान सौंपे जाने हैं।

वहीं, इस सौदे के बाद कांग्रेस ने केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला था और कहा था कि इस सौदे की कीमत अधिक रखी गई है, ताकि कुछ लोगों को आर्थिक रूप से फायदा पहुंचाया जा सके। पिछले साल लोकसभा चुनाव के दौरान भी राफेल का मुद्दा काफी गरमाया हुआ था।

फ्रांस से उड़ान भरते हुए पांच राफेल विमान आज भारत पहुंच रहे हैं। ये विमान अंबाला एयरफोर्स पर लैंड करेंगे और इनकी तैनाती यहीं की जाएगी। इसके चलते अंबाला और इससे लगते चार गांवों में धारा 144 लगाई गई है। वहीं, मध्यप्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने राफेल को लेकर बिना नाम लिए कांग्रेस पर हमला बोला है।

सूबे के गृह मंत्री ने कहा, ‘हिंदुस्तान का आसमान आज राफेल की गर्जना से और देश का माथा आज गौरव से गौरवान्वित होगा। अगर मातम होगा तो केवल तीन जगह होगा, चीन, पाकिस्तान और उनके यहां जो सुबह से ट्वीट कर रहे हैं।’

उन्होंने कहा, ‘जो लोग रोज सुबह उठकर कभी सेना का मनोबल गिराते हैं, कभी देश के सम्मान और स्वाभिमान को आहत करते हैं, अच्छा होगा अगर ऐसे लोग किसी दूसरे देश की नागरिकता ले लें।’

यह भी पढ़ें: दुश्मनों का ‘काल’ राफेल के वायुसेना में शामिल होने से कैसी बढ़ेगी इसकी ताकत, यहां पढ़ें

गौरतलब है कि भारत ने वायुसेना की ताकत को बढ़ाने के लिए फ्रांस के साथ सितंबर 2016 में करीब 60 करोड़ रुपये का राफेल सौदा किया गया था। इसके तहत, भारत को 36 राफेल लड़ाकू विमान सौंपे जाने हैं।

वहीं, इस सौदे के बाद कांग्रेस ने केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला था और कहा था कि इस सौदे की कीमत अधिक रखी गई है, ताकि कुछ लोगों को आर्थिक रूप से फायदा पहुंचाया जा सके। पिछले साल लोकसभा चुनाव के दौरान भी राफेल का मुद्दा काफी गरमाया हुआ था।

Source link

Related articles

Leave a Reply