आवश्यकता हुई तो गहलोत सरकार के खिलाफ लाएंगे अविश्वास प्रस्ताव: कटारिया Shamli news

आवश्यकता हुई तो गहलोत सरकार के खिलाफ लाएंगे अविश्वास प्रस्ताव: कटारिया Shamli news

शशि मोहन शर्मा/जयपुर: नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि, बीजेपी विधानसभा सत्र की सियासी तैयारियों में जुटी है. उन्होंने कहा कि, आवश्यकता हुई तो सरकार के खिलाफ बीजेपी अविश्वास प्रस्ताव भी लेकर आएगी. बीजेपी आगामी विधानसभा के मानसून सत्र की तैयारी कर रही है.

कटारिया ने कहा कि, अब यह देखना दिलचस्प होगा सत्तापक्ष विधानसभा में सचिन पायलट (Sachin Pilot) कैंप के विधायकों को आने देते हैं या नहीं. हम भी कांग्रेस के हर रणनीति के लिहाज से तैयारियां में जुटे हैं. बीजेपी नेता ने कहा कि, हमने तो शुरू में ही कहा था कि, राज्यपाल को बाध्य नहीं किया जा सकता है.

उन्होंने कहा कि, नियम और प्रक्रिया के लिहाज से जब अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) सरकार ने अपनी रखी डिमांड तो राज्यपाल ने भी स्वीकृति दे दी. कांग्रेस के दोनों खेमों के चल रहे कैम्प हमें जबरदस्ती इस मामले में घसीट रहे हैं. वहीं, बीएसपी (BSP) से कांग्रेस (Congress) में गए विधायकों के मुद्दे पर कटारिया ने कहा कि, उस मामले में हाईकोर्ट (High Court) पर विश्वास है. किसी भी राष्ट्रीय दल का इस तरह से विलय नहीं हो सकता है.

इससे पहले राजस्थान बीजेपी (BJP) के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने सरकार को विधानसभा में पूरी तैयारी के साथ घेरने का दावा किया. पूनिया ने कहा कि, सरकार सदन में आएगी तो सरकार की हर-एक कमजोरी को उजागर किया जाएगा.

पूनिया ने कहा कि, बीजेपी अबकी बार पूरी तैयारी से सरकार के पीछे पड़ी है. सरकार की बाड़ेबंदी पर सवाल उठाते हुए पूनिया ने कहा कि, संभव है कांग्रेस सरकार जल्द ही मंत्रीमंडल में होटल प्रबंधन और बाड़ेबन्दी प्रकोष्ठ जैसा कोई विभाग भी बना दे.

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा कि, सरकार को बाड़े से बाहर तो आना ही होगा. बीजेपी के कैम्प की मजबूती का दावा करते हुए पूनिया ने कहा कि, उनकी पार्टी के विधायक एकजुट हैं. इसके साथ ही पूनिया ने स्पीकर की भूमिका पर सवाल भी उठाए.

गौरतलब है कि, इससे पहले बुधवार को राज्यपाल कलराज मिश्र (Kalraj Mishra) राजस्थान विधानसभा का सत्र (Rajasthan Vidhansabha) बुलाने की अशोक गहलोत सरकार की फाइल को मंजूरी दे दी.  राजभवन के अधिकारियों ने कहा कि, राज्यपाल ने 14 अगस्त से राजस्थान विधानसभा का सत्र बुलाने की मंजूरी दी है.

इसके साथ ही, इस बात का भी ध्यान रखने को कहा गया है कि, सत्र के दौरान कोरोना वायरस (Coronavirus) गाइडलाइन का पूर्णता पालन किया जाए. इधर,राजस्थान विधानसभा का सत्र बुलाए जाने के बाद, गहलोत खेमा इसे अपनी बड़ी जीत मान रहा है.

[

Source link

Related articles

Leave a Reply