शिवरात्रि में न हों परेशान, डाक विभाग घर-घर पहुंचाएगा गंगाजल, 30 रुपये में मिलेगी एक बोतल

शिवरात्रि में न हों परेशान, डाक विभाग घर-घर पहुंचाएगा गंगाजल, 30 रुपये में मिलेगी एक बोतल

[ad_1]

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, यमुनानगर (हरियाणा)
Updated Thu, 16 Jul 2020 12:58 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

कोरोना काल के चलते हरिद्वार से कांवड़ और गंगाजल लाने पर रोक है। ऐसे में श्रद्धालुओं को शिवरात्रि पर गंगाजल के लिए भटकना नहीं पड़ेगा। शिव भक्तों की आस्था को ध्यान में रखते हुए डाक विभाग ने गंगाजल हर शहर में पहुंचाने की व्यवस्था की है। प्रदेश के सभी डाकघरों में गंगाजल उपलब्ध करवाया गया है। 

डाक अधिकारियों के अनुसार गंगोत्री में गंगाजल की पैकिंग करने के लिए प्लांट लगाए गए हैं। यहां से 250 मिलीलीटर की गंगाजल की बोतल डाक विभाग मंगवा रहा है। एक बोतल की कीमत 30 रुपये निर्धारित की गई है। इन प्लास्टिक की बोतलों को एक बार प्रयोग करने के बाद दोबारा प्रयोग करने लायक बनाया जा सकेगा। प्लास्टिक के रिसाइकिल होने के कारण प्रदूषण और गंदगी से निजात मिल पाएगी। 

गंगा जल को बेहद पवित्र माना जाता है। इस जल में बैक्टीरियोफेज पाया जाता है, जिसके कारण ये जल कभी खराब नहीं होता है। घरों में सालों तक यह गंगाजल पैकिंग में रहता है। उसमें कभी कोई दुर्गंध या कीड़े पैदा नहीं होते।

महामंडलेश्वर स्वामी ज्ञानानंद महाराज ने बताया कि सरकार की यह योजना शिव भक्तों के लिए अच्छी खुशखबरी है। जो कोरोना के चलते कांवड़ यात्रा पर प्रतिबंध होने के कारण गंगाजल नहीं ला पा रहे थे। उन्हें यह गंगाजल अब उनके शहरों में मिलेगा। उन्होंने बताया कि सरकार की इस योजना का और विस्तार होना चाहिए ताकि सभी शिव भगत कांवड़ियों को गंगाजल मिल सकें। 

भारी मात्रा में गंगाजल उपलब्ध कराने का अनुरोध
डीसी मुकुल कुमार ने बताया की शिव भक्त कांवड़ियों की आस्था को देखते हुए सरकार ने पोस्टल विभाग से अनुरोध किया है कि भारी मात्रा में गंगाजल की बोतलें प्रदेश के सभी छोटे बड़े शहरों में उपलब्ध कराई जाएं। उन्होंने बताया कि शहर के पोस्ट ऑफिस में गंगाजल उपलब्ध है। जहां से लोग प्रतिदिन जरूरत के मुताबिक खरीद सकते हैं।

250 मिली लीटर की एक बोतल 30 रुपये में 
पोस्ट ऑफिस की प्रमुख सुधा रानी ने बताया कि 250 मिली लीटर की एक बोतल 30 रुपये में उपलब्ध है। पोस्ट ऑफिस में मांग के अनुसार कई काउंटर लगाए गए हैं। जहां श्रद्धालुओं को गंगाजल उपलब्ध कराया जा रहा है। गंगोत्री से आ रहा यह गंगाजल अभी काफी संख्या में लोग लेकर जा रहे हैं। लोगों की मांग को देखते हुए अब और अधिक संख्या में स्टॉक में बढ़ोत्तरी करवाई जा रही है।

कोरोना काल के चलते हरिद्वार से कांवड़ और गंगाजल लाने पर रोक है। ऐसे में श्रद्धालुओं को शिवरात्रि पर गंगाजल के लिए भटकना नहीं पड़ेगा। शिव भक्तों की आस्था को ध्यान में रखते हुए डाक विभाग ने गंगाजल हर शहर में पहुंचाने की व्यवस्था की है। प्रदेश के सभी डाकघरों में गंगाजल उपलब्ध करवाया गया है। 

डाक अधिकारियों के अनुसार गंगोत्री में गंगाजल की पैकिंग करने के लिए प्लांट लगाए गए हैं। यहां से 250 मिलीलीटर की गंगाजल की बोतल डाक विभाग मंगवा रहा है। एक बोतल की कीमत 30 रुपये निर्धारित की गई है। इन प्लास्टिक की बोतलों को एक बार प्रयोग करने के बाद दोबारा प्रयोग करने लायक बनाया जा सकेगा। प्लास्टिक के रिसाइकिल होने के कारण प्रदूषण और गंदगी से निजात मिल पाएगी।

गंगा जल को बेहद पवित्र माना जाता है। इस जल में बैक्टीरियोफेज पाया जाता है, जिसके कारण ये जल कभी खराब नहीं होता है। घरों में सालों तक यह गंगाजल पैकिंग में रहता है। उसमें कभी कोई दुर्गंध या कीड़े पैदा नहीं होते।


आगे पढ़ें

सरकार की योजना अच्छी, विस्तार होना चाहिए

[ad_2]

Source link

Related articles

Leave a Reply