Preparations on Corona rules completed in Ajmer Sharif Dargah | अजमेर शरीफ दरगाह में कोरोना नियमों को लेकर तैयारियां पूरी, किए गए यह खास इंतजाम…

Preparations on Corona rules completed in Ajmer Sharif Dargah | अजमेर शरीफ दरगाह में कोरोना नियमों को लेकर तैयारियां पूरी, किए गए यह खास इंतजाम…

अजमेर: कोरोनावायरस महामारी के चलते बंद की गई विश्व प्रसिद्ध ख्वाजा गरीब नवाज की दरगाह करीब 6 महीने बाद एक बार फिर खुल जा रही है. 7 सितंबर को सरकार के निर्देश पर कोरोनावायरस की पालना करते हुए धार्मिक स्थल खोलने की अनुमति दी गई है. इसे लेकर आज कमेटी व प्रशासन की ओर से तैयारियों को तेज करते हुए सोशल डिस्टेंसिंग, सैनिटाइजिंग और अन्य गतिविधि की गई है.

इस दौरान दरगाह परिसर में अल्कोहल मुफ्त सैनिटाइजिंग की व्यवस्था की गई है, जिसके लिए जयपुर से विशेष टीम अजमेर पहुंची. वहीं, दरगाह कमेटी की ओर से है फीट की दूरी रखते हुए गोले बनाए गए जहां से जारी कोविड-19 गाइडलाइन की पालना करते हुए केवल दर्शन कर पाएंगे. दरगाह कमेटी के नाजिम मोहम्मद आदिल ने बताया कि ख्वाजा गरीब नवाज की दरगाह खोलने से पहले सरकार की गाइडलाइन के तहत तमाम सुरक्षा के इंतजाम किए जा रहे हैं.

वहीं, इस दौरान आने वाले जायरीन को किसी भी तरह का चढ़ावा लाने पर मनाही रहेगी इसके साथ ही वह ख्वाजा गरीब नवाज के दर पर जियारत कर सकेंगे और यहां का पैगाम देश भर में ले जा सकेंगे. इसके लिए व्यापक रूप से इंतजाम किए गए हैं. ख्वाजा गरीब नवाज के दर  के 3 दरवाजे इस दौरान खोले जाएंगे जहां से जारी व अन्य लोग अंदर प्रवेश कर सकेंगे. 

बता दें कि116 दिनों बाद कल यानी 7 सितंबर से फिर से धार्मिक स्थलों पर आस्था बहेगी. राज्य सरकार की ओर से धार्मिक स्थलों को 7 सितंबर से सशर्त खोलने की अनुमति देने के बाद मंदिर प्रबंधनों की ओर से पूरी तैयारियां कर ली गई हैं हालांकि बड़े मंदिरों में दर्शनों के लिए भक्तों को इंतजार करना होगा.

मंदिर के सभी प्रवेश और निकासी द्वार पर थर्मल स्कैनर, हैंडवॉश और सेनेटाइज की व्यवस्था की गई हैं. मंदिर के अंदर दर्शनार्थियों के प्रवेश करते ही बिना छुए घंटियां बजना शुरू हो जाएगी. मंदिर में सेंसर वाली घंटी सहित हैंडवॉश की व्यवस्था की गई है. सुरक्षा व्यवस्थाओं के तहत मंदिर के बाहर और अंदर गोले बनाए गए ताकि श्रद्धालु सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए दर्शन कर सकें. 

मंदिर सुबह 5 बजे से दोपहर 12:00 बजे तक और शाम 4 से रात्रि 10:00 तक दर्शनों के लिए खुला रहेगा. उधर बड़े जैन मंदिर भी सात सितंबर को नहीं खुलेंगे. आगामी 15 दिन बाद पुन:समीक्षा कर मंदिर खोलने का निर्णय लिया जाएगा. मोतीडूंगरी गणेश मंदिर, गोविंददेवजी मंदिर, झारखंड महादेव मंदिर, ताड़केश्वर महादेव मंदिर में दर्शनों के लिए अभी इंतजार करना होगा.



[

Source link

Related articles

Leave a Reply