Udaipur police got important clues from bike in the robbery of lakhs case | उदयपुर: लाखों की लूट के मामले में हुआ रोचक खुलासा, पुलिस को बाइक से मिले अहम सुराग

Udaipur police got important clues from bike in the robbery of lakhs case | उदयपुर: लाखों की लूट के मामले में हुआ रोचक खुलासा, पुलिस को बाइक से मिले अहम सुराग

अविनाश जगनावत/उदयपुर: राजस्थान के उदयपुर के भींडर थाना इलाके में स्वतन्त्र माइक्रोफाइनेंस प्रा.ली. के फील्ड ऑफिसर राहुल सिंह के साथ 10 अगस्त को हुई लूट के मामले का भींडर थाना पुलिस ने चौकाने वाला खुलासा किया है. पुलिस ने मामले में कार्यवाइ करते हुए फील्ड ऑफिसर राहुलसिह के साथ उसके दो अन्य साथियों को भी गिरफ्तार किया है. पुलिस गिरफ्तार आरोपियों से लूट की राशि के बारे में पूछताछ कर रही है.

ऐसे हुआ मामले का खुलासा
भींडर थानाधिकारी अनिल कुमार ने बताया कि राहुल सिह के साथ लूट की वारदात को अंजाम देने आए दोनो बदमाश बुलेट बाइक पर थे. जब जन्होने लूट की वारदात को अंजाम दिया उस समय बाइक की नम्बर प्लेट गंदी थी ऐसे में कोई भी उसके बार नहीं देख पाया. हलांकि, इस दौरान लोगो ने  पुलिस को बताया कि बाइक की नम्बर प्लेट पीले रंग की थी. इस पर पुलिस ने अपने अनुसंधान को आगे बढ़ाया. 

पुलिस ने कस्बे में बाइक रेंट पर देने वाले संजय शर्मा नाम के व्यक्ति से पूछताछ की. जिस पर सामने आया कि 10 अगस्त को यह बाइक ज्ञानगढ़ होटल में ठहरे जोधपुर निवासी अशोक कुमार ने बुक कराई थी. लेकिन उसने अपने एक अन्य साथी सुरजाराम के डॉक्यूमेंट पर किराए पर लिया था. पुलिस ने पूरे मामले में कड़ी से कड़ी को जोड़ते हुए जोधपुर पहुंची जहा सुजाराम को गिरफ्तार किया. सुजाराम की निशान देहि पर पुलिस ने भीलवाड़ा अशोक कुमार को भी दबोच लिया.

पूछताछ में हुआ चौकाने वाला खुलासा
भींडर थाना पुलिस ने जब आरोपियो से पूछताछ कि तो एक चौकाने वाला खुलासा सामने आया. पुलिस पूछताछ में अशोक ने बताया कि लूट के इस मामले में कम्पनी का ही फील्ड ऑफिसर राहुल सिंह भी शामिल है. अशोक ने बताया कि वह और राहुल दोनो ही पूर्व में कम्पनी के मंगलवाड़ स्थित ब्रांच में साथ मे काम करते थे. जहां से उसने कम्पनी को छोड़ दिया और राहुल का भींडर ट्रांसफर कर दिया गया. इस दौरान उसने राहुल के साथ मिल कर यह पूरा प्लान तैयार किया गया.

ऐसे दिया वारदात को अंजाम
पुलिस ने बताया 10 अगस्त को राहुल अपने एक अन्य साथी के साथ बाइक पर सवार हो कम्पनी के रिकवरी के करीब 5 लाख 80 रुपए ई मित्र पर जमा करवाने जा रहा था. इसी दौरान बुलेट पर सवार हो कर आए आलोक और उसके सहयोगी ने रास्ते में ही इस वारदात को अंजाम दिया.

इस टीम ने की कार्यवाई
कांस्टेबल अनिल कुमार, राजेष, समुन्द्र सिंह, सुनील, हितेष कुमार, तखतसिह, उदयपुर साईबर सैल के हैड कांस्टेबल गजराज, लोकेश रायकवाल के साथ जोधपुर पुलिस के हैड कांस्टेबल जगदीषलाल और कालुराम टीम में शामिल थे.



[

Source link

Related articles

Leave a Reply