इसे ताऊ का आतंक नहि तो क्या कहेंगे, पूरी की पूरी भरी हुई बाल्टी दूध की पी गया फटाफट

इसे ताऊ का आतंक नहि तो क्या कहेंगे, पूरी की पूरी भरी हुई बाल्टी दूध की पी गया फटाफट

इससे मज़बूत शायद ही कोई इंसान होगा और मिलते भी कहाँ है आजकल ऐसे बाशिंदे

आजकल तो लोगों के हाज़मे ख़राब हो जाते ह और एक ये है जो फटाफट पेले जा रहे है.

Comments

mood_bad
  • No comments yet.
  • chat
    Add a comment